यह ट्यूटोरियल बताता है कि स्कैन की गई इमेज को वैक्टर आर्ट में कैसे बदला जाए। इस प्रोसेस को ट्रेसिंग या वैक्टराइज़ेशन कहा जाता है, और इसे या तो मैनुअल रूप से या स्वचालित उपकरण का इस्तेमाल करके किया जा सकता है। इस ट्यूटोरियल में, हम बताते हैं कि इस रूपांतरण को जल्दी और आसानी से करने के लिए Vector Magic का इस्तेमाल कैसे करें।

यह ट्यूटोरियल किस प्रकार की इमेजेस पर लागू होता है?

यह ट्यूटोरियल इन पर लागू होता है:

  • उस कलाकार्य के स्कैन जिसे मूल रूप से कागज़ पर बनाया या प्रिंट किया गया था

यह इस पर लागू नहीं होता है:

इस ट्यूटोरियल को फॉलो करने के लिए मुझे किस चीज़ की जरूरत है?

  • यह ट्यूटोरियल Vector Magic डेस्कटॉप संस्करण का इस्तेमाल करता है। आप डेस्कटॉप एप्लिकेशन पेज से ट्रायल वर्ज़न डाउनलोड कर सकते हैं।

  • ऑनलाइन संस्करण डेस्कटॉप संस्करण में पूर्ण स्वचालित मोड से बहुत मिलता-जुलता है। उपयोगकर्ता इंटरफेस थोड़ा अलग दिखता है, और कोई पारदर्शिता सहायता नहीं है। इन चेतावनियों को ध्यान में रखते हुए, आप इस ट्यूटोरियल को फॉलो करने के लिए ऑनलाइन संस्करण का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

उस कला को स्कैन करने के लिए बेहतरीन पद्धतियाँ जिसे वैक्टरीकृत किया जाएगा।

विभिन्न विनिर्माताओं के स्कैनिंग हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच अंतर होता है, इसलिए मैं अपनी टिप्पणियों को यथासंभव सामान्य रखूंगा। निम्नलिखित टिप्पणियां दिशानिर्देश मात्र हैं; अपने विशेष मामले के अनुसार बेहतरीन विकल्प खोजने के लिए अपने विशेष हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और स्रोत सामग्री के साथ प्रयोग करें। मैंने ऐसा पाया है:

  • ब्लैक एंड व्हाइट या ग्रेस्केल स्रोत सामग्री के लिए, ग्रेस्केल स्कैनिंग विकल्प चुनें।

    • ब्लैक एंड व्हाइट स्कैन मोड का चयन नहीं करें, क्योंकि इससे क्वांटाइज़ेशन के ज़रिए डेटा खो जाता है।
    • रंगीन स्कैन मोड का इस्तेमाल नहीं करें, क्योंकि इससे आकृति सीमाओं के आसपास स्कैन में अवांछित रंगीन आर्टिफेक्ट्स बन जाते हैं।
  • रंगीन स्रोत सामग्रियों के लिए, रंगीन स्कैन सेटिंग का इस्तेमाल करें।
  • किसी भी तरह के अनशार्प मास्क या अन्य कंट्रास्ट या किनारों के संवर्धन संबंधी फीचर्ज़ को बंद करें। हालांकि स्कैन किए गए परिणाम के कुछ पहलुओं को ऐसी फीचर्ज़ सौंदर्य की दृष्टि से बेहतर बनाते हैं, परंतु वे इसे वैक्टरीकृत करना कठिन बनाते हैं।
  • सुनिश्चित करें कि आपकी स्कैन सतह साफ और धूल मुक्त हो।
  • 150-300 dpi पर स्कैन करें। खास उपभोक्ता-ग्रेड स्कैनरों के लिए, 300 से अधिक dpi पर स्कैन करने की जरूरत कभी-कभार ही होती है, क्योंकि इससे अधिक रेज़ोल्यूशन पर स्कैनर वैसे भी ज्यादातर किसी भी विवरण पर भ्रम ही पैदा करते हैं। मैं ज्यादातर स्कैनिंग के लिए विशिष्ट रूप से 150 dpi चुनूंगा, विशेषकर यदि आपको परिणामी बिटमैप को वैक्टरीकृत किया जाना हो।
  • वैक्टरीकृत करने से पहले अधूरे स्कैन में स्केल, फिल्टर या अन्यथा बदलाव नहीं करें। आप इसे सही आकार में क्रॉप कर सकते हैं, परंतु अधिक उन्नत प्रचालन विशिष्ट रूप से स्कैन से जानकारी निकालने का ही काम करते हैं।
  • विभिन्न रेज़ोल्यूशन्स पर स्कैन क्वालिटी पर करीबी नजर

    स्कैन्स की कुछेक विशेषताओं का वर्णन करने के लिए, मैंने थोड़ा प्रयोग किया है।

    • मुझे Celtic नॉट डिजाइन की दिलचस्प सार्वजनिक-डोमेन वैक्टर इमेज मिली। आप इसका SVG वर्ज़न यहाँ डाउनलोड कर सकते हैं। उस फ़ाइल का रास्टराइज़्ड बिटमैप संस्करण यह है:
    • इसके बाद, मैंने बेहद बढ़िया क्वालिटी वाले लेज़र प्रिंटर का इस्तेमाल करके उस फाइल को प्रिंट किया। इससे 6 इंच वर्ग की जगह घेरने वाला बेहद चटख, साफ प्रिंट-आउट मिला।
    • फिर, मैंने उपभोक्ता-ग्रेड के लिए निर्मित Canon स्कैनर में तीन रेज़ोल्यूशन्स: 150, 300 और 600 dpi का इस्तेमाल करके इसे स्कैन किया।

    इस सेक्शन में, मैं अपने निष्कर्षों का वर्णन करूंगा। जैसा कि मैंने ऊपर बेहतरीन पद्धतियों संबंधी सेक्शन में वर्णन किया है, मैंने निष्कर्ष निकाला कि 300 dpi से अधिक पर स्कैन करना वास्तव में व्यर्थ है। बेशक, 600 dpi पर स्कैनिंग से आपको दोगुने आकार की इमेज मिलती है, परंतु यह दोगुनी धुंधली भी होती है।

    ये स्कैन स्वयं में इतने बड़े हैं कि इन्हें इस ट्यूटोरियल में इन-लाइन नहीं दिखाया जा सकता, परंतु यहाँ विभिन्न आकारों के लिंक दिए गए हैं: 150 DPI, 300 DPI, और 600 DPI

    इमेज में किसी किनारे पर ज़ूम करना निर्देशात्मक है।

    150 DPI
    300 DPI
    600 DPI

    150 dpi मामले में, किनारे पर धुंधलापन आवश्यक रूप से मात्र एक पिक्सेल चौड़ा है। इसे ऐसा ही होना चाहिए। यदि किनारे असीम रूप से स्पष्ट हों, तो स्कैनर के सेंसर में इसे मात्र एक पिक्सेल द्वारा देखा जाना चाहिए। वह पिक्सेल तब कुछ सीमा तक उपयुक्त ग्रे होना चाहिए, जो कि इस बात पर निर्भर करता है कि किनारे पर पिक्सेल वास्तव में कितनी दूर तक फैला है।

    300 dpi मामले में, धुंधलापन दो या तीन पिक्सेल्स तक फैला होता है जो कि दर्शाता है कि कुछ धुंधलापन हुआ है। यह स्पष्ट नहीं है कि क्या ऐसा वास्तविक सेंसरों की सीमाओं के कारण है या स्कैनर अथवा स्कैनर सॉफ्टवेयर द्वारा की गई कुछ प्रोसेसिंग के कारण है। किसी भी मामले में, इस इमेज का प्रभावी रेज़ोल्यूशन 300 dpi नहीं है।

    इसी तरह 600 dpi मामले में, जहां धुंधलापन तीन या चार पिक्सेल तक फैला हो। एक बार फिर, ऐसे धुंधले परिणाम का कारगर रेज़ोल्यूशन बेहद कम माना जाना चाहिए।

    इस मामले में, मेरे विचार में 150 dpi पर स्कैन करना सबसे अधिक उपयुक्त रहेगा। ऐसे मामलों में जहाँ बेहतर स्कैनर उपलब्ध हो, वहाँ 300 dpi पर स्कैन करना उपयुक्त हो सकता है।

    स्कैन को वैक्टरीकृत करना

    मैंने 150 dpi स्कैन का इस्तेमाल करने का फैसला किया है। Vector Magic डेस्कटॉप संस्करण का इस्तेमाल करते हुए, मैं इसे निम्नलिखित चरणों में वैक्टरीकृत करता हूँ:

    • इमेज को ड्रैग और ड्रॉप करके एप्लिकेशन पर लोड करें।
    • "बुनियादी विज़ार्ड" चुनें।
    • "मिश्रित किनारों वाला लोगो" चुनें।
    • "मध्यम" क्वालिटी चुनें।
    • "दो रंग" चुनें।
    • "समीक्षा पूरी हो गई" चुनें।
    • आउटपुट को वाँछित के रूप में सेव करें।

    परिणाम का मूल्यांकन करना

    कुल मिलाकर, परिणाम बहुत अच्छा है। कुछ ऐसे कोने हैं जो ओरिजनल (मूल) में स्पष्ट होने के बावजूद परिणाम में थोड़े गोल हो गए हैं, परंतु अधिकांश भाग के लिए वैक्टरीकृत परिणाम ओरिजनल (मूल) से काफी मेल खाता है। इस वैक्टराइज़ेशन से SVG आउटपुट को यहाँ डाउनलोड किया जा सकता है।

    नीचे दिए गए स्क्रीन शॉट्स परिणाम के सेक्शन को ज़ूम करके दिखाते हैं। पहली इमेज वैक्टरीकृत परिणाम है, दूसरी इमेज बिटमैप का संबंधित सेक्शन है, और तीसरी इमेज बिटमैप मूल के ऊपर वैक्टर पथों का ओवरले है। इस सेक्शन में, परिणाम चटख और साफ दिखाई देता है, और साफ तौर पर मूल आकृति को बेहद अच्छी तरह से पुनर्निर्मित करता है।

    निम्न क्वालिटी का एक स्कैन

    दुर्भाग्य से, सभी स्रोत इमेजेस पिछले उदाहरण की तरह चटख और साफ नहीं हैं। यह उदाहरण वैक्टर ग्राफिक को लेज़र प्रिंटर से प्रिंट करके और फिर तुरंत इसे वापस स्कैन करके सृजित किया गया था। निम्नलिखित उदाहरण इससे कहीं अधिक चुनौतीपूर्ण है।

    यह स्कैन स्कैनों के संबंध में कहीं अधिक विशिष्ट है। जिस व्यक्ति ने इसे स्कैन किया, उससे गलती से स्कैनर रंगीन मोड में छूट गया, इसलिए आकृति सीमाओं के साथ इसमें किनारे के रंगीन आर्टिफेक्ट्स हैं। मूल प्रिंट की क्वालिटी खराब प्रतीत होती है, और आकृति सामान्यतः अनियमित है, मानो इसे हाथ से बनाया गया हो। इमेज का छोटे आकार का वर्ज़न नीचे दिखाया गया है, और पूर्ण रेज़ोल्यूशन वर्ज़न यहाँ देखा जा सकता है।

    निम्न ज़ूम दृश्य इस स्रोत इमेज की कुछेक चुनौतियों का वर्णन करता है।

    स्पष्ट रूप से दिखता है कि रंग खराब हैं। सफेद आकृतियों के ऊपर नीला रंग और नीचे लाल रंग चढ़ा हुआ है। किनारे भी बहुत अनियमित दिखाई देते हैं।

    वैक्टरीकृत परिणाम

    फिर से, मैं इस इमेज को वैक्टरीकृत करने के लिए Vector Magic डेस्कटॉप संस्करण का इस्तेमाल करता हूँ। इस मामले में, मैंने "मध्यम" और "निम्न" क्वालिटी सेटिंग्स को आज़माया ताकि देखा जा सके कि इनका क्या परिणाम रहता है।

    यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि जब इस तरह की कोई बड़ी इमेज Vector Magic डेस्कटॉप संस्करण में लोड होती है, तब प्रोग्राम यह निर्धारित करने के लिए इमेज का विश्लेषण करता है कि क्या इमेज का आकार कम करना तर्कसंगत है। कृपया ध्यान दें कि क्वालिटी में यथासंभव सुधार करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला रिसाइज़ फंक्शन पिक्सेल औसत निर्धारण के कारगर इस्तेमाल के माध्यम से बहुत सावधानी से चुना जाता है। कमर्शियल बिटमैप संपादकों में ज्यादातर रिसाइज़िंग फीचर इस तरह से स्केलिंग प्रचालन नहीं करते हैं, इसलिए किसी भी श्रिंकिंग (संकुचन) प्रचालन को करने के लिए Vector Magic पर भरोसा करें। और Vector Magic में लोड करने से पहले बिटमैप का आकार कभी भी न बढ़ाएं। ऐसे प्रयास परिणाम की क्वालिटी ही कम करते हैं।

    परिणाम यहाँ उपलब्ध हैं: निम्न (SVG), मध्यम (SVG)

    अगली तीन इमेजेस मूल स्कैन और दो वैक्टरीकृत परिणामों के दृश्यों को अत्यधिक ज़ूम करके दिखाती हैं। मूल सबसे पहले है, दूसरी निम्न परिणाम से, और तीसरी मध्यम परिणाम से संबंधित है।

    दोनों में से कौन-सा परिणाम बेहतर है यह पसंद का विषय है। निम्न परिणाम कम नोड्स का इस्तेमाल करता है और सरल ज्यामिति (ज्यॉमेट्री) सृजित करता है, जबकि मध्यम ज्यामिति (ज्यॉमेट्री) का अधिक विश्वसनीय पुनर्निर्माण करता है परंतु अधिक नोड्स का इस्तेमाल करता है। व्यक्तिगत रूप से, मुझे मध्यम इनपुट क्वालिटी परिणाम पसंद है परंतु फिर भी मुझे दोनों के अपने-अपने गुण-दोष दिखते हैं।

    मैंने बिटमैप के ऊपर मध्यम परिणाम से पथों की अंतिम इमेज को शामिल किया है। हमेशा की तरह, आप देख सकते हैं कि ये पथ बहुत बारीकी से स्रोत बिटमैप का पालन करते हैं। अन्य स्वतः-वैक्टराइज़ेशन उपकरणों की तुलना में यह विशेषता Vector Magic की महत्वपूर्ण क्षमताओं में से एक है।

    निष्कर्ष

    इस ट्यूटोरियल में इस बारे में दिशानिर्देश और सलाह दी गई है कि Vector Magic डेस्कटॉप संस्करण का इस्तेमाल करते हुए स्कैनों को किस तरह बेहतरीन तरीके से वैक्टरीकृत किया जाए। आपकी स्रोत सामग्री और आपके स्कैनर से अधिकतम लाभ उठाने में आपकी सहायता के लिए कई व्यावहारिक सुझाव दिए गए थे। और हमने वैक्टरीकृत किए जाने वाले स्कैन्स के दो उदाहरण दिखाए: पहला चटख अच्छी क्वालिटी वाले ओरिजनल (मूल) का उच्च क्वालिटी स्कैन था, और दूसरा निम्न-क्वालिटी वाले मूल का निम्न-क्वालिटी स्कैन था।

    मैं आपको इसे आज़माने के लिए पुरज़ोर रूप से प्रोत्साहित करता हूँ। यदि सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो Vector Magic स्कैन्स को वैक्टरीकृत करने के लिए शक्तिशाली उपकरण हो सकता है।


प्री-क्रॉप

आपकी इमेज का आकार, आकार की सीमा से अधिक है। बेहतरीन परिणामों के लिए, कृपया इमेज की उस भाग तक काट-छाँट करें जिसे आप वैक्टरीकृत करन चाहते हैं।

आकार सीमा


ओरिजनल (मूल) इमेज

आकार
आस्पेक्ट अनुपात:
मेगापिक्सेल्स:

काट-छाँट की गई इमेज

आकार
आस्पेक्ट अनुपात:
मेगापिक्सेल्स:
काट-छाँट की गई इमेज का आकार सीमा से अधिक है और इसे फिट करने के लिए स्केल किया जाएगा।
आकार सीमा पूरी हो गई, पूरा रेज़ोल्यूशन बनाए रखा गया।